Year Ender 2023: भारतीय क्रिकेट के लिए कैसा रहा साल 2023? जानिए 5 अच्छी और 5 बुरी यादें

Team India: 2023 का साल खत्म होने वाला है. आइए हम आपको बताते हैं कि भारतीय क्रिकेट टीम के लिए इस साल 5 सबसे अच्छी और बुरी यादें कौन-कौन सी रही हैं.

Indian Cricket Team: भारतीय क्रिकेट टीम के लिए साल 2023 लगभग खत्म हो चुका है. हालांकि, टीम इंडिया इस साल अपने आखिरी दौरे पर साउथ अफ्रीका गई है, जहां टीम इंडिया को टी20, वनडे और टेस्ट सीरीज खेलनी है, लेकिन फिर भी हम टीम इंडिया के लिए इस साल यानी 2023 का आकलन कर सकते हैं. भारतीय क्रिकेट टीम के लिए यह साल मिला-जुला रहा है, जिसमें अच्छी और बुरी दोनों यादें रही हैं. आइए हम आपको टीम इंडिया की पांच अच्छी और बुरी यादों के बारे में बताते हैं.

टीम इंडिया की पांच अच्छी यादें

1. ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट, वनडे, और टी20 तीनों फॉर्मेट में हराया: इस साल की शुरुआत में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 4 मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया, और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में लगातार दूसरी बार अपनी जगह पक्की की. इसके अलावा टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को वनडे, और टी20 सीरीज में भी मात दी. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुई 5 मैचों की टी20 सीरीज में भारत की कप्तानी नए कप्तान सूर्यकुमार यादव ने की, और टीम इंडिया को 4-1 से सीरीज में जीत दिलाई.

2. तीनों फॉर्मेट में दुनिया की नंबर वन टीम: भारतीय क्रिकेट टीम पिछले कई सालों से लगातार टेस्ट, वनडे और टी20 यानी सभी फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए आ रही है. इस साल भी टीम इंडिया ने तीनों फॉर्मेट में कमाल का प्रदर्शन किया है, और इसलिए वह दुनिया की नंबर-1 टीम बन पाई है.

3. दबदबा बनाकर साथ जीता एशिया कप: वनडे वर्ल्ड कप शुरू होने से ठीक पहले टीम इंडिया के सामना एशियाई चैंपियनशिप जीतने की चुनौती थी. पाकिस्तान और श्रीलंका की मेज़बानी में हुए वनडे एशिया कप 2023 में भारत ने शुरू से लेकर अंत तक कमाल का प्रदर्शन किया. भारत ने लीग स्टेज में पाकिस्तान को हराया, और फिर फाइनल मैच में श्रीलंका को सिर्फ 50 रन पर आउट करके दबदबे के साथ एशिया कप जीत लिया.

4. सचिन के सामने विराट के 50 वनडे शतक: भारतीय क्रिकेट टीम के साथ-साथ विराट कोहली के लिए भी यह साल सबसे यादगार रहा है. अब बुरे फॉर्म का एक लंबा दौर पार करने के बाद विराट कोहली ने जो रफ्तार पकड़ी है, वो शायद पिछली बार से भी ज्यादा तेज है. विराट कोहली ने इस साल हर फॉर्मेट में खूब रन बनाए हैं, लेकिन उनके, और विश्व क्रिकेट के लिए सबसे यादगार पल वो था, जब उन्होंने वनडे वर्ल्ड कप 2023 के सेमीफाइनल मैच में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ, सचिन तेंदुलकर के सामने उनके सबसे ज्यादा 49 शतकों का रिकॉर्ड तोड़ते हुए, अपने करियर का 50वां वनडे शतक बनाया. यह क्रिकेट के इतिहास में शायद सबसे बड़े रिकॉर्ड, और सबसे अच्छे पल में से एक है.

5. वर्ल्ड कप में जीत का सुपर 10: वनडे वर्ल्ड कप 2023 में टीम इंडिया चैंपियन नहीं बन पाई, लेकिन टीम इंडिया पूरे वर्ल्ड कप में एक चैंपियन की तरह खेली है. वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के साथ शुरुआत की थी, और उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. टीम इंडिया ने एक-एक हर दुनिया की हरेक टीम को हराया, और लगभग लीग स्टेज के सभी 9 मैचों में एकतरफा जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल तक का सफर तय किया, और सेमीफाइनल में भी न्यूज़ीलैंड को हराकर वर्ल्ड कप के फाइनल में शान के साथ जगह बनाई, और इस वर्ल्ड कप की उप-विजेता कहलाई.

2023 में टीम इंडिया की 5 बुरी यादें

1. टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में मिली हार: इस साल भारतीय क्रिकेट टीम के लिए पहला सबसे बुरा दिन तब आया, जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंग्लैंड के ओवल मैदान पर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेल रही थी. टीम इंडिया लगातार दूसरी बार वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची थी, लेकिन लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा. यह इस साल टीम इंडिया के लिए सबसे बुरे पलों में से एक है.

2. वर्ल्ड कप फाइनल में मिली हार: वनडे वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने इस बार कमाल का प्रदर्शन किया था. टीम इंडिया से अच्छा वर्ल्ड कप कैंपन तो वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम ऑस्ट्रेलिया का भी नहीं था, लेकिन वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा, और ऑस्ट्रेलिया भारत को हराकर छठीं बार वर्ल्ड कप विजेता बन गई, यह शायद टीम इंडिया के लिए सबसे बुरे पलों में से एक है.

3. आखिरी वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में रोहित के आंसू: 35 साल के रोहित शर्मा इस बार के वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे थे, और उन्होंने बतौर कप्तान, और बतौर बल्लेबाज, दोनों रूप में टीम इंडिया को चैंपियन बनाने की पूरी कोशिश की. उन्होंने अपनी कप्तानी, और बल्लेबाजी के आगे दुनिया की हरेक टीम को झुकाया, लेकिन फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया को नहीं झुका पाए, और फिर अपना सिर झुका कर रोते-रोते मैदान से बाहर चले गए, क्योंकि शायद रोहित शर्मा को भी पता था कि, यह उनके करियर का आखिरी वनडे वर्ल्ड कप था. रोहित शर्मा को वो उदास चेहरा निश्चित तौर पर टीम इंडिया के लिए सबसे बुरे पलों में से एक रहा है.

4. व्हाइट-बॉल क्रिकेट से दूर होने लगे विराट और रोहित: वर्ल्ड कप खत्म होने के बाद टीम इंडिया के सिलेक्टर्स ने साउथ अफ्रीका दौरे के लिए टीम इंडिया के लिए तीन फॉर्मेट के तीन कप्तान, और तीन अलग-अलग टीमों का चयन किया है. इस सिलेक्शन में खास बात है कि पिछले करीब 15-16 सालों से भारतीय और विश्व क्रिकेट पर राज करने वाले विराट कोहली और रोहित शर्मा को वनडे, और टी20 टीम में जगह नहीं मिली है. इन दोनों खिलाड़ियों को वनडे वर्ल्ड कप से पहले तक टी20 फॉर्मेट से भी आराम दिया जा रहा था, और वनडे वर्ल्ड कप खत्म होते ही वनडे टीम से भी आराम दिया जाने लगा रहा है. ऐसे में बहुत सारे फैन्स ऐसा सोचने लगे हैं कि अब शायद विराट और रोहित व्हाइट-बॉल क्रिकेट से दूर होने लगे हैं, और अब वह सिर्फ टेस्ट फॉर्मेट में ही दिखाई देंगे. यह निश्चित तौर पर टीम इंडिया के क्रिकेट फैन्स के लिए काफी बुरी यादों में से एक होगी.

5. चेतेश्वर पुजारा और अंजिक्य रहाणे के करियर का हुआ अंत?: टीम इंडिया के सिलेक्टर्स ने विराट और रोहित को व्हाइट-बॉल क्रिकेट से दूर किया है, लेकिन चेतेश्वर पुजारा, और अजिंक्य रहाणे को रेड-बॉल क्रिकेट यानी टेस्ट फॉर्मेट से भी ड्रॉप कर दिया है. इन दोनों खिलाड़ियों ने टीम इंडिया के लिए पिछले कई सालों से टेस्ट फॉर्मेट के मध्यक्रम की जिम्मेदारी संभाली थी, लेकिन अब सिलेक्टर्स ने साउथ अफ्रीका में होने वाली टेस्ट सीरीज से इन दोनों खिलाड़ियों को ड्रॉप करके युवा खिलाड़ियों को मौका दिया है. इन दोनों खिलाड़ियों को पहले भी टीम इंडिया की टेस्ट टीम से ड्रॉप किया था, लेकिन उसके बाद उन्होंने घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करके वापसी की, लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक बार फिर फ्लॉप रहे. इस कारण अब ऐसा लगता है कि टीम इंडिया के सिलेक्टर्स ने पुुजारा और रहाणे के करियर का अंत कर दिया है, और यह निश्चित तौर पर एक सबसे पुरे पलों में से एक है.

Leave a Comment

Scroll to Top