US Politician On Akshardham: अमेरिकी नेताओं को भा रहा है न्यू जर्सी का अक्षरधाम मंदिर, कहा- ‘सेवा और भक्ति के मूल्यों की है निशानी’

US Politician: अमेरिका में अक्षरधाम मंदिर का भूमिपूजन बीते 8 अक्टूबर को किया गया था. इसे संगमरमर और चूना पत्थर से बनाया जा रहा है.

US Politician On Akshardham Temple: हाल ही में एक अमेरिकी सांसद ने कहा है कि अमेरिका में नवनिर्मित अक्षरधाम मंदिर सेवा और भक्ति के मूल्यों का प्रतीक है. सांसद जेफ वान ड्रू ने यह बात अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में कही. उन्होंने कहा कि ये परियोजना स्वयंसेवा, व्यक्तिगत विकास और धार्मिक सीमाओं से परे सार्वभौमिक मूल्यों का उदाहरण है. यह एकता, सेवा और भक्ति का प्रतीक है, जो दुनिया भर के लोगों द्वारा साझा किए गए मूल सिद्धांतों को दर्शाती है.

सांसद जेफ वान ड्रू  ने कहा, ‘‘आज, मैं मीडिल न्यू जर्सी में एक भव्य हिंदू मंदिर के निर्माण के इर्द गिर्द समर्पण और एकता की एक प्रेरक कहानी साझा कर रहा हूं, जो सेवा और भक्ति के मूल्यों का प्रतीक है. इसे अक्षरधाम मंदिर को पश्चिम में सबसे बड़ा हिंदू मंदिर होने का दावा किया जाता है जिसके निर्माण को पूरा करने में 12,500 स्वयंसेवक लगे हैं.अक्षरधाम मंदिर मंदिर का भूमिपूजनअक्षरधाम मंदिर मंदिर का भूमिपूजन बीते 8 अक्टूबर को किया गया था. इसे संगमरमर और चूना पत्थर से बनाया जा रहा है. जेफ वान ड्रू  ने कहा कि रॉबिंसविले स्थित मंदिर स्वामीनारायण संप्रदाय के एक विश्वव्यापी धार्मिक और नागरिक संगठन BAPS की तरफ से निर्मित कई मंदिरों में से एक है. जेफ वान ड्रू ने कहा कि यह उन सामान्य मूल्यों की याद दिलाता है जो मानवता को एक साथ बांधते हैं, हमें अपने जीवन में एकता, सेवा और भक्ति को अपनाने के लिए प्रेरित करते हैं.

दुबई में हिंदू मंदिर
अमेरिका की न्यू जर्सी में बनने जा रहे सबसे बड़े हिंदू मंदिर के अलावा दुनिया के दूसरे हिस्सों में भी हिंदू मंदिर की स्थापना की गई है. आपको बता दें कि इस्लामिक देश दुबई में पिछले साल अक्टूबर में हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया गया था. इस मंदिर को बनाने में UAE के रूलर्स और कम्युनिटी डेवलपमेंट अथॉरिटी ने अहम भूमिका निभाई थी. इस मंदिर का बनान में 550 करोड़ का खर्च आया था,जिसमें सात चर्च, एक गुरुद्वारा और नए मंदिर सहित नौ धार्मिक स्थलों का निर्माण शामिल है.

Leave a Comment

Scroll to Top