UP Politics: ‘राजनीति में दुश्मन कब दोस्त बन जाए, पता नहीं चलता’, जयंत चौधरी के NDA में शामिल होने पर बोले किसान नेता नरेश टिकैत

Jayant Chaudhary News: रालोद के एनडीए में जाने की ख़बरों पर किसान नेता नरेश टिकैत ने प्रतिक्रिया दी हैं. उन्होंने कहा कि इस फ़ैसले को लेने पहले जयंत चौधरी को बात करनी चाहिए थी.

Naresh Tikait News: राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने की खबरों के बीच भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के अध्यक्ष नरेश टिकैत की ओर से बड़ा बयान सामने आया है. रविवार को पत्रकारों से बात करके हुए किसान नेता ने कहा कि रालोद प्रमुख जयंत चौधरी को ये फैसला लेने से पहले उन लोगों से चर्चा कर लेनी चाहिए थी जो तीन पीढ़ियों से उनसे जुड़े हैं. 

नरेश टिकैत ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘राजनीति में दुश्मन कब दोस्त बन जाए, पता नहीं चलता. जयंत चौधरी की अपनी सोच है लेकिन उन्हें कम से कम उन लोगों से सलाह लेनी चाहिए थी जो तीन पीढ़ियों से उनके साथ हैं.’ टिकैत ने कहा कि उन्हें इस बात का हमेशा अफसोस रहेगा. टिकैत ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह किसानों के मसीहा थे और वह भारत रत्न के हकदार थे.

जयंत चौधरी पर क्या बोले नरेश टिकैत
भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को याद करते हुए कहा, ‘उन्हें (चरण सिंह) यह सम्मान पहले ही मिलना चाहिए था. किसानों ने पहले ही चौधरी चरण सिंह जी के लिए भारत रत्न की मांग की थी. सरकार को अब किसानों की ज्वलंत समस्याओं का भी समाधान करना चाहिए.’ टिकैत ने सरकार पर कम गन्ना मूल्य घोषित कर किसानों को नुकसान पहुंचाने का भी आरोप लगाया.

जयंत चौधरी के इन दिनों एनडीए की चर्चाएं जोरों से हैं. माना जा रहा है एनडीए के साथ रालोद का जाना लगभग तय हो गया है और जयंत कभी भी इसका एलान भी कर सकते हैं. मोदी सरकार ने चौधरी चरण सिंह को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न देने का एलान किया है, जिसके बाद जयंत के कई ऐसे बयान आए हैं जिससे ये खबरें और पक्की हो रही है. पत्रकारों द्वारा एनडीए में जाने के सवाल का जवाब देते हुए भी उन्होंने ये कहा था कि ‘अब मैं किस मुंह से इनकार करूं.’

Leave a Comment

Scroll to Top