Shardiya Navratri 2023: यूपी के मंदिरों में उमड़ा आस्था का सैलाब, कपाट खुलते ही गूंजे जय माता दी के जयकारे

Unnao News: उन्नाव में शारदीय नवरात्र को लेकर भक्तों में खासा उत्साह देखा जा रहा है. शुक्लागंज के राजधानी मार्ग स्तिथ प्राचीन मंदिर में श्रद्धालुओं की लंबी लंबी कतार लगी रही.

Shardiya Navratri 2023: शारदीय नवरात्र आज यानी रविवार (15 अक्टूबर) से शुरू हो गए हैं. उन्नाव में शारदीय नवरात्र को लेकर भक्तों में खासा उत्साह देखा जा रहा है. सुबह से ही मंदिरों में जय माता के जयकारों की गूंज के साथ श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी. नवरात्र को लेकर बाजार में रौनक देखी गई.

मंदिरों में लगा श्रद्धालुओं का तांताआज सुबह से ही शुक्लागंज के राजधानी मार्ग स्थित प्राचीन मंदिर में माता रानी के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की लंबी लंबी कतार लगी रही. व्रत रखने वालों ने बाजार में व्रत के सामान की जमकर खरीदारी की. व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं में महिलाओं की संख्या ज्यादा रही. वृतधारी महिलाओं ने माता रानी की पूजन सामग्री की खरीदारी की.प्रथम दिन मां शैलपुत्री की हुई आराधनामंदिरों में प्रथम दिन माता शैलपुत्री की पूजा की गई. मंदिर के पुजारियों के अनुसार शैलपुत्री माता का यह रूप अनेक नामों से लोक प्रसिद्ध है. सती, पार्वती, दुर्गा, उमा, अपर्णा, गौरी, महेश्वरी, शिवांगी, शुभांगी, पर्वतवासिनी आदि नाम शामिल हैं. पूर्व जन्म में इनके पिता दक्ष थे.राजा दक्ष ने प्रजेश होने पर यज्ञ किया पर अपने दामाद शिव को निमंत्रण नहीं दिया. भगवान शंकर की अनुमति के बिना सती अपने पिता के यहां चली गई. यज्ञ स्थल पर पहुंचने पर सती का तिरस्कार हुआ. इस पर सती यज्ञ की अग्नि में कूद पड़ी. सती का अगला जन्म शैलराज की पुत्री पार्वती के रुप में हुआ.

भक्तों पर पड़ी महंगाई की मारनवरात्र के शुरू होते ही बाजार में पूजन सामग्री में भारी उछाल आ गया है. व्रत में प्रयोग होने वाले खाद्य पदार्थो से लेकर पूजन सामग्री खरीदना लोगों के बस से बाहर हो गया है. बाजार में पांच रुपये वाली चुनरी 10 रुपये की में मिल रही है. नारियल 20 की जगह 25 और कलश 15 की जगह 20 रुपये में मिल रहा है.वहीं चुनरी के रेट पचास रुपये से कर डेढ़ सौ रुपये हे गए हैं. मखाना 120 रुपये सौ ग्राम, कूटू आटा एक सौ बीस रुपये किलो, सिंघाड़ा का आटा एक सौ पचास रुपये किलो है. वहीं साबूदाना के रेट अस्सी रुपये किलो तक पहुंच गए है. जबकि गुलाब की माला पचास रुपये, गेंदा की माला तीस रुपये तक हो गई है.

Leave a Comment

Scroll to Top