Russia-Ukraine War: रूसी मिसाइल हमले में 51 लोगों की मौत, राष्ट्रपति जेलेंस्की बोले- जानबूझकर किया गया हमला

Russia-Ukraine: यूक्रेन के आंतरिक मंत्री ने कहा कि जब मिसाइल हमला हुआ तब स्थानीय अधिकारी खाना खाने के लिए बैठे थे.

Russian Missile Attack On kharkiv: रूस और यूक्रेन के बीच 589 दिनों यानी पूरे 1 साल 8 महीनों से लगभग जंग जारी है. इस दौरान दोनों देशों को कई तरह के नुकसान का सामना करना पड़ा है. इसी बीच गुरुवार (5 अक्टूबर) को रूसी सेना ने पूर्वोत्तर यूक्रेन के ह्रोज़ा गांव में एक मिसाइल से हमला किया. इस हमले में 51 लोगों की मौत हो गई. रूस की तरफ से हमला उस वक्त किया गया, जब एक किराने की दुकान पर मृत यूक्रेनी सैनिक के शोक सभा के दौरान करीब सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे.

रूसी मिसाइल हमले के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये हमला जानबूझकर किया गया था. इसे किसी भी तरह का ब्लाइंड अटैक नहीं कह सकते हैं. हमले के बाद किराने की दुकान की हालत बहुत खराब हो गई. घटनास्थल पर ईंटों, टूटी हुई धातु और निर्माण सामग्री के बड़े-बड़े ढ़ेर लगे हुए थे.

हमले में मरने वालों की संख्या 51
खार्किव क्षेत्र के ह्रोज़ा गांव के पास मौजूद एक क्षेत्रीय अधिकारी ने सार्वजनिक प्रसारक सस्पिल्ने को बताया कि 19 महीने से अधिक समय पहले रूस के आक्रमण के बाद से खार्किव क्षेत्र में यह सबसे घातक हमला था. ये रूस की तरफ से किए हमले में मारे गए अब तक सबसे ज्यादा नागरिक थे. स्थानीय पुलिस ने नेशनल टेलीविजन को बताया कि हमले में मरने वालों की संख्या 51 है, जबकि 6 लोग घायल हो चुके हैं और 3 लापता है.

रूसी हमले के वक्त यूक्रेनी राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की स्पेन में यूरोपीय राजनीतिक समुदाय के एक शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए पहुंचे हुए थे. उन्होंने शिखर सम्मेलन के दौरान रात में वीडियो संबोधन में कहा कि खार्किव क्षेत्र के एक गांव में स्टोर पर जानबूझकर मिसाइल हमला किया गया. रूसी सैनिक इस बात से अनजान नहीं हो सकते थे कि वे कहां हमला कर रहे हैं.

ऋषि सुनक ने की निंदा
यूक्रेन के खार्किव क्षेत्र में मिसाइल हमले के बाद रूस ने किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं की. वहीं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की रूसी हमले की निंदा की. हमले से जुड़ी जानकारी देते हुए ज़ेलेंस्की ने कहा कि मृतकों में एक छह साल का लड़का भी शामिल है. इस पर एक क्षेत्रीय अधिकारियों ने कहा कि युद्ध के समय हमने क्षेत्र को खाली करने का आदेश दे दिया था. हालांकि, इसके बावजूद कई परिवार गांव में ही रह गए.

इस्कंदर बैलिस्टिक मिसाइल से हमला
यूक्रेन के आंतरिक मंत्री इहोर क्लिमेंको ने कहा कि जब मिसाइल हमला हुआ तब स्थानीय अधिकारी भोजन के लिए बैठे थे. क्लिमेंको ने यूक्रेनी टेलीविजन को बताया कि हर घर से इस स्मरणोत्सव में लोग मौजूद थे. यह एक भयानक त्रासदी है. क्लिमेंको ने प्रारंभिक जानकारी का हवाला देते हुए कहा कि यह पता चला है कि हमला इस्कंदर बैलिस्टिक मिसाइल से किया गया था.

उन्होंने कहा कि हमला स्पष्ट रूप से टारगेट था और यूक्रेनी सुरक्षा सेवाओं ने मामले की जांच शुरू कर दी है. वहीं यूक्रेन के रक्षा मंत्री रुस्तम उमेरोव ने कहा कि आतंकवादियों (रूस) ने जानबूझकर दोपहर के भोजन के समय हमला किया, ताकि अधिकतम संख्या में लोग हताहत हो सके.

Leave a Comment

Scroll to Top