Navratri 2023: नवरात्रि में कैसी होनी चाहिए आपकी पोशाक, जानिए परंपरा को ध्यान में रखते हुए फैशन में क्या करें और क्या न करें

Navratri 2023: नवरात्रि का पर्व नवदुर्गा की पूजा के लिए समर्पित होता है. साथ ही नवरात्रि में उपासना, भक्ति, नृत्य, संगीत और पोशाक का भी महत्व है. लेकिन फैशन ऐसा हो, जिसमें पंरपरा की झलक दिखे.

Navratri 2023: नवरात्रि या दुर्गा पूजा भारत का महत्पूर्ण हिंदू पर्व है, जिसे देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तरीकों के मनाया जाता है. यह पर्व बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की जीत को दर्शाता है.

इस साल शारदीय नवरात्रि की शुरुआत 15 अक्टूबर से हो रही है, जिसका समापन 24 अक्टूबर 2023 को होगा. नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूप यानी नवदुर्गा की पूजा की जाती है और नौ दिन ही नहीं नवरात्रि के नौ रात भी भक्ति, संगीत, नृत्य से सराबोर रहते हैं.

नवरात्रि में कैसा हो आपका फैशन

नवरात्रि फैशन का भी समय है.क्योंकि इस दौरान नौ दिनों की पूजा के साथ ही डांडिया, पूजा, गरबा आदि कई नृत्य समेत सांस्कृति गतिविधियां भी होती हैं. ऐसे में इस उत्सव में पोशाक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. लेकिन फैशन के नाम फूहड़ता न हो इस बात का भी विशेष ध्यान रखें. बल्कि नवरात्रि में आपका पोशाक ऐसा होना चाहिए, जिसमें भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विविधता नजर आए.

नवरात्रि में क्यों जरूरी है पारंपरिक परिधान

नवरात्रि ऐसा पर्व है जिससे भारत की जीवंत संस्कृति, परंपरा और आध्यात्मिकता की झलक दिखती है. इसलिए इस खास उत्सव के लिए आपका पोशाक भी ऐसा होना चाहिए, जो सम्मान का प्रतीक बने. नवरात्रि में पारंपरिक पोशाक के साथ ही जीवंत रंगों को भी अपनाएं. यह इसलिए भी जरूरी है क्योंकि नवरात्रि में आपके फैशन और परिधान से ही इस त्योहार की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत प्रतिबिंबित होगी. इसलिए यह जान लीजिए कि नवरात्रि में फैशन के लिए क्या करें और क्या नहीं.

नवरात्रि 2023 में फैशन के लिए क्या करें

  • पारंपरिक परिधान: विशेषकर पर्व-त्योहारों में आपको पारंपरिक पोशाक या परिधान पहनने चाहिए, जिससे कि भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की  झलक दिखे. नवरात्रि में महिलाओं के लिए चनिया चोली, साड़ी और लहंगा आदर्श विकल्प है. तो वहीं  पुरुषों के लिए कुर्ता-पायजामा या धोती-कुर्ता को चुना जा सकता है. पारंपरिक परिधान त्योहार के प्रति आपके सम्मान को दर्शाता है.
  • जीवंत रंग: नवरात्रि का त्योहार नवदुर्गा के साथ ही 9 जीवंत रंगों के बारे में है जो खुशी और ऊर्जा का प्रतीक है. इसमें आप लाल, पीला, हरा और शाही नीला जैसे चमकीले रंगों का अधिक प्रयोग करें.
  • जेवर: महिलाओं का साज-श्रृंगार गहनों के बिना अधूरा है. इसलिए नवरात्रि में अपने पहनावे को खूबसूरत गहनों से पूरा करना न भूलें. महिलाएं विस्तृत आभूषण जैसे चोकर्स, चूड़ियां, झुमके, हार, पायल आदि के साथ अपने लुक को बेहतर बना सकती हैं. वहीं पुरुष पगड़ी, स्टोल या मोजरी जूते को अपने फेशन में जोड़ सकते हैं.
  • मेकअप और हेयरस्टाइल: पारंपरिक परिधान के साथ ही आपका मेकअप और हेयरस्टाइल भी ऐसा होना चाहिए जो इससे मेल खाता हो. इसलिए आप साज-सजावट के लिए बिंदी, काजल और खूबसूरत हेयर स्टाइल के साथ अपने लुक को निखार सकते हैं.

नवरात्रि 2023 में फैशन के लिए क्या नहीं करें

  • दिखावटी पोशाक से बचें: खास मौके पर सर्वश्रेष्ठ दिखना सभी को अच्छा लगता है और यह आवश्यक भी है. लेकिन आपको अधिक दिखावटी वाले पोशाकों से बचना चाहिए. इसलिए फैशन के नाम पर ऐसे पोशाक न पहन लें जो धार्मिक त्योहार के लिए अनुपयुक्त हों. अपने पोशाक का चयन इस प्रकार से करें जिससे, त्योहार की पवित्रता बनी रहे.
  • काले रंग से दूर रहें: तीज-त्योहार के शुभ मौक पर काले रंग से दूर रहना चाहिए. क्योंकि भारतीय संस्कृति में काले रंग को शोक से जोड़ा जाता है. इसलिए शुभ उत्सव के मौके के लिए काले रंग को अशुभ माना जाता है. नवरात्रि के दौरान भी आप काले रंग के कपड़े पहनने से बचें.

Leave a Comment

Scroll to Top