Mizoram Election 2023: राजस्थान के बाद अब इस राज्य से उठी चुनाव कार्यक्रम में बदलाव की मांग, इस कारण 3 दिसंबर को नहीं चाहते काउंटिंग

Election News: 23 नवंबर को राजस्थान में अधिक शादी होने की वजह से लोगों ने चुनाव आयोग से वोटिंग की तारीख में बदलाव की मांग की थी. आयोग ने इस पर विचार करते हुए मतदान की नई तारीख 23 की जगह 25 नवंबर की.

Mizoram Assembly Election 2023 Schedule: राजस्थान विधानसभा चुनाव की तारीखों में बदलाव के बाद अब मिजोरम से भी इस तरह की मांग उठी है. हालांकि वहां मतदान की जगह मतगणना की तारीख में बदलाव की मांग की गई है. ईसाई-बहुल मिजोरम में भारतीय जनता पार्टी (BJP), कांग्रेस और सत्तारूढ़ एमएनएफ सहित सभी मुख्य राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि विधानसभा चुनाव की मतगणना की तारीख बदल दी जाए.

इसी तरह की मांग ज़ोरम पीपुल्स मूवमेंट और पीपुल्स कॉन्फ्रेंस ने भी की है. राज्य के प्रमुख चर्चों के समूह मिजोरम कोहरान ह्रुएटुटे कमेटी (एमकेएचसी) ने भी चुनाव आयोग को एक पत्र भेजकर मतगणना की तारीख बदलने की अपील की है.

BJP और MKHC ने लेटर में क्या कहा

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार को लिखे पत्र में एमकेएचसी ने कहा कि “रविवार ईसाइयों के लिए पवित्र दिन है और उस दिन सभी कस्बों और गांवों में पूजा सेवाएं आयोजित की जाती हैं. इसलिए आपसे आग्रह है कि मिजोरम में वोटों की गिनती की तारीख आगे बढ़ा दी जाए.” भाजपा ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखकर मतगणना की तारीख बदलने का आग्रह किया है. पार्टी ने लेटर में बताया, “रविवार ईसाइयों के लिए पवित्र दिन है और यह पूरा दिन पूरे राज्य में चर्च सेवाओं के लिए समर्पित है. इसलिए तारीख में बदलाव जरूरी है.”

कांग्रेस और एमएनएफ ने उठाई मांग

सत्तारूढ़ एमएनएफ ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर मतगणना की तारीख 3 दिसंबर की जगह 4 दिसंबर यानी सोमवार करने का आग्रह किया है. वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष लालसावता ने चुनाव आयोग को लिखे अपने पत्र में कहा, “रविवार मिजोरम के लोगों के लिए एक पवित्र दिन है और उस दिन यहां कोई आधिकारिक कार्यक्रम या बिजनेस या दूसरी गतिविधियां आयोजित नहीं होती हैं.” उन्होंने चुनाव आयोग से मिज़ो लोगों की भावनाओं का सम्मान करने का आग्रह करते हुए वोटों की गिनती को सोमवार और शुक्रवार के बीच किसी भी दिन पुनर्निर्धारित करने का आग्रह किया है.

मिजोरम की 87 प्रतिशत आबादी है ईसाई

2011 की जनगणना के अनुसार, मिज़ोरम की कुल आबादी में ईसाई धर्म के लोगों की संख्या करीब 87 प्रतिशत है. बता दें कि चुनाव आयोग ने सोमवार (9 अक्टूबर) को पांच राज्यों- मिजोरम, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की थी. 40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा के लिए मतदान 7 नवंबर को एक ही चरण में होगा, जबकि सभी पांच राज्यों के लिए वोटों की गिनती 3 दिसंबर को  होगी. हालांकि राजस्थान में 2 दिन बाद मतदान की तारीख में बदलाव किया गया.

Leave a Comment

Scroll to Top