Loksabha Election 2024: बिहार में गाड़ी पलटी, बंगाल में बिगड़ी बात, UP में 11 और 13 की जंग, जानें I.N.D.I.A में सीट शेयरिंग पर कांग्रेस की प्लानिंग

INDIA Alliance seat sharing: लोकसभा चुनाव से पहले जनता दल यूनाइटेड के मुखिया नीतीश कुमार ने कांग्रेस और इंडिया गठबंधन को झटका दे दिया है. इसके बाद कांग्रेस पार्टी नई शुरुआत की तैयारी में है.

INDIA Alliance seat sharing: विपक्षी इंडिया गठबंधन के बिखराव के बीच कांग्रेस पार्टी के सूत्र ने अलग-अलग राज्यों में सीट बंटवारे पर बड़ी जानकारी साझा की है. कांग्रेस पार्टी के सूत्र ने बताया है कि उत्तर प्रदेश में सीट बंटवारे को लेकर अंतिम निर्णय समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के हाई कमान के बीच चर्चा के बाद ही लिया जाएगा. वहीं सूत्र ने कांग्रेस को 11 सीट दिए जाने की समाजवादी पार्टी की पेशकश पर भी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि अब तक उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए 13 सीट चिन्हित की गई हैं. 

बंगाल में होल्ड पर सीट शेयरिंग, TMC अभी भी इंडिया के साथ

वहीं पश्चिम बंगाल को लेकर भी कांग्रेस पार्टी के सूत्र ने बड़ी जानकारी साझा की है. उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल में इंडिया गठबंधन का सीट बंटवारा अभी होल्ड पर है. उन्होंने बताया कि तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस प्रस्तावों पर चर्चा कर रहे हैं और TMC अभी भी इंडिया गठबंधन का हिस्सा है. मालूम हो कि बंगाल में इंडिया गठबंधन की सहयोगी और सूबे की मुखिया ममता बनर्जी अकेले ही चुनाव लड़ने की बात कह चुकी हैं.  

नीतीश ने दिया झटका तो बिहार में कांग्रेस करेगी नई शुरुआत

विपक्षी इंडिया गठबंधन को बिहार से मिली चोट के बाद अब कांग्रेस पार्टी पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश जैसे महत्वपूर्ण राज्यों में महत्वपूर्ण साथियों को हरगिज भी छोड़ने के मूड में नहीं है. जनता दल यूनाइटेड के मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इंडिया से किनारा करते हुए फिर से एनडीए का दामन थाम लिया है और कांग्रेस को लोकसभा चुनाव के पहले झटका दे दिया है. ऐसे में बिहार में कांग्रेस नए सिरे से चर्चा करने की तैयारी में है. नीतीश के अलग होने के बाद बिहार में सीट बंटवारे पर कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल और वामदलों के साथ नए सिरे से चर्चा करेगी. फिलहाल कांग्रेस और RJD विश्वासमत के दौरान नीतीश को झटका देने की रणनीति बना रहे हैं. 

दिल्ली में पटरी पर बात, AAP के साथ 4-3 का फॉर्मूला लगभग तय

सीट बंटवारे पर मचे बवाल के बीच कांग्रेस पार्टी को राहत की खबर दिल्ली से मिली है. दिल्ली में बात पटरी पर है और यहां राज्य की सत्ता में काबिज आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस 4-3 के फॉर्मूले को लगभग तय ही कर चुकी है. इनमें से 4 सीट AAP और 3 सीट कांग्रेस की होंगी. दिल्ली में लोकसभा की कुल 7 सीटें हैं. 

महाराष्ट्र में 38 सीट पर बन गई है बात, 10 पर फंसा है पेच

आगामी लोकसभा चुनाव के लिहाज से महाराष्ट्र भी विपक्षी इंडिया गठबंधन के लिए बड़ा राज्य है. उत्तर प्रदेश के बाद लोकसभा की सबसे ज्यादा सीटें इसी राज्य में हैं और यहां कांग्रेस के अलावा उद्धव ठाकरे गुट की शिवसेना और शरद पवार गुट की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी इंडिया गठबंधन का हिस्सा हैं. इंडिया गठबंधन के बीच महाराष्ट्र में 38 सीटों पर बात बन गई है. 10 सीटों पर पेच अभी भी फंसा हुआ है. प्रकाश अंबेडकर की पार्टी को भी 3 सीट मिल सकती हैं. ऐसे में तीनों दल अपने कोटे से एक एक सीट वंचित बहुजन आघाड़ी के लिए छोड़ सकते हैं. कांग्रेस पार्टी के सूत्र का कहना है कि अभी इंडिया गठबंधन में तीन से चार क्षेत्रीय दल और जुड़ सकते हैं.

Leave a Comment

Scroll to Top