Israel-Hamas War: हमास की कैद से 24 बंधक रिहा, गाजा में पहुंची सबसे बड़ी मानवीय मदद, क्या अब थम जाएगा युद्ध? पढ़ें अपडेट्स

Israel-Hamas War Updates: मिडिल ईस्ट में एक महीने से ज्यादा वक्त बाद शांति लौटी है. ऐसे में अब ये देखना है कि इजरायल और हमास के बीच ये शांति कितने दिनों तक रहती है.

Israel-Hamas War News: इजरायल और हमास के बीच चल रही जंग में शांति की उम्मीद नजर आने लगी है. पहली बार हमास ने गाजा में बंधक बनाए गए दो दर्जन लोगों को अपनी कैद से आजाद कर इजरायल भेजा. इसके बदले में इजरायल ने भी फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया है. इजरायल-हमास के बीच हुए समझौते के तहत बंधकों को रिहा किया गया है. गाजा में 7 अक्टूबर के बाद से ही इजरायल और हमास के बीच जंग चल रही है. 

मिडिल ईस्ट में चल रहे इस युद्ध में अब तक 15 हजार से ज्यादा फिलिस्तीनियों की जान जा चुकी है. इजरायल में हमास के हमले में मरने वालों का आंकड़ा 1200 के करीब है. जिस वक्त हमास ने इजरायल पर हमला किया था, उस वक्त 250 के करीब लोगों को अगवा किया गया था. इजरायल इन सभी बंधकों को रिहा करवाने के लिए काम कर रहा है. ऐसे में आइए जानते हैं कि एक महीने से ज्यादा वक्त से चल रहे इस युद्ध के अब तक के क्या बड़े अपडेट्स हैं.

  • इजरायल-हमास के बीच चार दिनों तक गाजा पट्टी में युद्ध रोकने के लिए समझौता हुआ है. इस समझौते के तहत शुक्रवार (24 नवंबर) से चार दिनों तक गाजा में कोई बमबारी नहीं होगी. इसके बदले में हमास चार दिनों के भीतर 50 बंधकों को रिहा भी करेगा, जबकि इजरायल जेल में फिलिस्तीनियों को रिहा करने वाला है.
  • हमास ने शुक्रवार को 24 बंधकों को रिहा किया, जिसमें 13 इजरायल, 10 थाईलैंड और 1 फिलीपींस का नागरिक शामिल था. इसके बदले में इजरायल की जेल में बंद 39 फिलिस्तानी महिलाओं और बच्चों को रिहा किया गया. इजरायल की जेल में 8300 के करीब फिलिस्तीनी कैदी बंद हैं.   
  • मोसाद और इजरायली रक्षा विभाग को शनिवार को रिहा किए जाने वाले बंधकों की दूसरी लिस्ट मिल चुकी है. बंधकों की रिहाई का जिम्मा संभाल रहे अधिकारी ने उनके परिवार से बात की है. जब तक बंधकों को इजरायल के सुरक्षित हाथों में नहीं लौट दिया जाता है, तब तक ये लिस्ट जारी नहीं होगी. 
  • इजरायल की सेना ने दक्षिणी गाजा के लोगों से कहा है कि वे उत्तर की ओर नहीं जाएं. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, इजरायल शहर सेद्रोत में धमाकों की तेज आवाज सुनी गई है, जो गाजा पर दागे गए तोप के गोले जैसा मालूम पड़ता है. ये हमला युद्ध रुकने से 15 मिनट पहले किया गया. 
  • संयुक्त राष्ट्र ने बताया है कि युद्ध रुकने के पहले दिन मानवीय मदद के साथ 137 ट्रकों को गाजा भेजा गया है. शुक्रवार से 1.3 लाख लीटर डीजल और चार ट्रक गैस भी गाजा में पहुंचना शुरू हो जाएगी. 7 अक्टूबर को हुए हमले के बाद गाजा में पहुंची ये सबसे बड़ी मदद होगी. 
  • इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि वह गाजा में बंधक बनाए गए सभी लोगों को रिहा करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि बंधकों की रिहाई इस युद्ध का एक प्रमुख लक्ष्य है. हम युद्ध के सभी लक्ष्यों को हासिल करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं. 
  • सीएनएन ने कहा है कि अगर इजरायल और हमास के बीच इसी तरह से बंधकों और कैदियों की आवाजाही होती रहती है, तो ये युद्ध रुकने की दिशा में एक संकेत हो सकता है. बंधकों को रिहा करवाना कठिन काम होता है, मगर ऐसा हुआ है. अगर ऐसा चलता रहता है, तो आने वाले दिनों में अच्छे संकेत मिल सकते हैं. हालांकि, अभी भी गाजा में 200 के करीब बंधक हैं, जिनकी रिहाई के बाद ही युद्ध पूरी तरह से रुक सकता है. हालांकि, अभी इसे युद्ध रुकने की दिशा में पहला कदम कहा जा सकता है. 
  • अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, सात हफ्तों से चल रहे युद्ध में शुक्रवार की रात पहली ऐसी रात रही है, जब लोग बिना किसी हवाई हमले के डर के सो पाए हैं. कुल मिलाकर 48 घंटों में ये पहला मौका है, जब फिलिस्तीनी लोग चैन की नींद सो पाए हैं. हालांकि, अभी भी लाखों लोग अपने घर नहीं लौट सकते हैं. 
  • ब्रिटेन के विदेश मंत्री डेविड कैमरून ने कहा है कि इजरायल को सुरक्षित रखने के लिए फिलिस्तीनियों के लिए लंबे समय तक सुरक्षा और स्थिरता की व्यवस्था होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि ये सोचना होगा कि युद्ध खत्म होने के बाद गाजा में क्या होगा और इसे कैसे स्थिर किया जाएगा. 
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि गाजा के अल-शिफा अस्पताल में लगभग 100 फिलिस्तीनी मौजूद हैं. इजरायल के सैनिकों ने यहां पर छापेमारी की है और हमास की सुरंगों का होने का दावा किया है. अस्पताल के डायरेक्टर अबु सालमिया का भी कुछ पता नहीं चल पाया है. 

Leave a Comment

Scroll to Top