Israel Hamas War: गाजा पर आक्रमण करने के बाद अब आगे क्या करेगा इजरायल? अमेरिका को डर इजरायली PM नेतन्याहू के पास नहीं है कोई फ्यूचर प्लान

Israel Hamas: व्हाइट हाउस को डर है कि इजरायल गाजा पर आक्रमण करने के बाद आगे क्या करेगा. इसको लेकर इजरायल के पास कोई प्लान नहीं है.

Israel Hamas War: इजरायल (Israel) और हमास (Hamas) के बीच चल रहा युद्ध विनाशकारी रूप लेता जा रहा है. इसको लेकर दुनिया भर के कई बड़े देश चिंतित दिखाई दे रहे हैं. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब तक 7 दिनों तक चले इस युद्ध में दोनों पक्षों को मिलाकर लगभग 3200 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 12 हजार लोग घायल हो चुके हैं.

इजरायल और हमास के बीच चल रहे युद्ध में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इजरायल को बिना शर्त समर्थन देने का वादा किया है. हालांकि, उनके इस फैसले से उनकी सरकार चिंतित है कि इजरायली सरकार किसी भी समय होने वाले बड़े आक्रमण के परिणामों के लिए तैयार नहीं है. बाइडेन प्रशासन के रुख से परिचित लोगों का कहना है कि व्हाइट हाउस को डर है कि इजरायल गाजा पर आक्रमण करने के बाद आगे क्या करेगा. इसको लेकर इजरायल के पास कोई प्लान नहीं है.

अमेरिकी प्रशासन का इजरायल पर दबाव

अमेरिकी प्रशासन इजरायल पर हमास को खत्म करने के तत्काल लक्ष्य से परे सोचने के लिए दबाव डाल रहा है. बाइडेन प्रशासन से जुड़े अधिकारी ने पहचान छिपाने की शर्त पर जानकारी दी कि राष्ट्रपति जो बाइडेन की टीम ने भी इजरायल की मांग के बारे में चिंता व्यक्त की है कि, जिसमे  24 घंटे में उत्तरी गाजा को खाली करने का आदेश है. इसको लेकर यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र दोनों का कहना है कि यह समय सीमा अवास्तविक है. इजरायल के मांग करने के तुरंत बाद राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने स्वीकार किया कि गाजा में निकासी के लिए लंबा समय दिया जाएगा.

जो बाइडेन प्रशासन चिंतित

इजरायल का समर्थन करने की इच्छा के बाद पैदा होने वाले हालातों को लेकर बाइडेन प्रशासन चिंतित दिखाई दे रहा है. इसके पीछे की वजह गाजा में दंडात्मक अभियान को लेकर न दिखने वाला कोई अंत बताया जा रहा है. इसकी वजह से इजरायल के पिछले 50 सालों के इतिहास में सबसे खराब संकट पैदा होने का खतरा मंडरा रहा है. इसकी वजह से क्षेत्रीय संघर्ष भड़कने की आशंका जताई जा रही है. इसके बाद अमेरिका और उसके सहयोगियों को रोकने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा.

हालांकि, अभी तक बाइडेन प्रशासन ने इजरायल को अडिग समर्थन दिखाने की कोशिश की है. इजरायली अधिकारियों ने हमास हमले को 9/11 जैसा हमला बताया है और राष्ट्रपति इसहाक हर्ज़ोग जैसे कुछ लोगों ने इस धारणा को खारिज कर दिया है कि फलस्तीनी नागरिक निर्दोष हो सकते हैं. उन्होंने कहा, “वे उस दुष्ट शासन के खिलाफ लड़ सकते थे जिसने तख्तापलट में गाजा पर कब्जा कर लिया था.

अमेरिका के विदेश मंत्री ने किया दौरा

जो बाइडेन के सहयोगियों ने हमास के खिलाफ संघर्ष में इजरायल की रणनीति पर सार्वजनिक रूप से सवाल उठाने से परहेज किया है, जिसे अमेरिका और यूरोपीय संघ ने एक आतंकवादी समूह नामित किया गया है. बाइडेन ने शुक्रवार दोपहर को कहा कि लोगों को इस तथ्य को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए कि फलस्तीनियों के भारी बहुमत का हमास से कोई लेना-देना नहीं है.

इस दौरान अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन इजरायल के दौरे पर पहु्ंचे. इसके अलावा उन्होंने गुरुवार को चार देशों का दौरा किया – क्योंकि अमेरिका युद्ध को फैलने से रोकना चाहता है और बंधकों की रिहाई में मदद चाहता है. जबकि ब्लिंकन ने इजरायल से कुछ सावधानी बरतने का आग्रह किया है, उनका ध्यान अन्य देशों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहना है कि हिंसा न फैले.

इजरायल को नए प्लान की जरूरत

मैसाचुसेट्स डेमोक्रेट और हाउस आर्म्ड सर्विसेज कमेटी के सदस्य सेठ मौलटन ने कहा कि इजरायल को गाजा के लिए एक रणनीतिक योजना की जरूरत है. वो जिस योजना पर वे पिछले कई सालों से अमल कर रहे हैं, वो काम नहीं कर रहा है. इजरायल को गाजा के लिए एक दीर्घकालिक रणनीति की आवश्यकता है, जो पिछले 15 वर्षों से वे जो कुछ भी कर रहे हैं उससे अधिक प्रभावी होनी चाहिए.

Leave a Comment

Scroll to Top