IND vs SA: श्रेयस के तूफान से लेकर सिराज के मैजिक तक, टीम इंडिया के 5 पुराने हथियार में लौटी धार

Cricket World Cup 2023: भारत ने इस वर्ल्ड कप में अभी तक सभी टीमों को धूल चटाई है. अब बारी साउथ अफ्रीका की है. इस मैच से पहले भारत के 5 पुराने हथियार की धार वापस आ गई है.

ICC Cricket World Cup 2023: भारतीय क्रिकेट टीम ने इस वर्ल्ड कप में अभी तक बेहद शानदार प्रदर्शन किया है. टीम इंडिया अभी तक एकमात्र ऐसी टीम है, जिसने टूर्नामेंट का एक भी मैच हारा नहीं है. उधर, साउथ अफ्रीका की टीम ने नीदरलैंड्स के खिलाफ एक मैच गवांया जरूर था, लेकिन उसके अलावा सभी टीमों को लगभग एकतरफा अंदाज में हराया है. ऐसे में भारत और साउथ अफ्रीका के बीच शानदार मैच होने की उम्मीद की जा रही है. 

भारत ने श्रीलंका के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया था. टीम के बल्लेबाजों से लेकर गेंदबाजों तक सभी ने कमाल का प्रदर्शन किया था. इस मैच में श्रेयस अय्यर जैसे बल्लेबाजों ने फॉर्म में वापसी की, तो गेंदबाजी में मोहम्मद सिराज की धार भी वापस आई. आइए हम आपको बताते हैं कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ एक शानदार मैच से पहले टीम इंडिया को क्या पॉजिटीव मिले हैं.

मोहम्मद सिराज का मैजिक

वर्ल्ड कप में भारत के लगभग सभी गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन मोहम्मद सिराज उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे. श्रीलंका के खिलाफ मोहम्मद सिराज को अपनी शक्ति याद आ गई, और एक बार फिर उन्होंने श्रीलंकाई बल्लेबाजों को पिच पर टिकना मुश्किल कर दिया. आपको बता दें कि सिराज ने एशिया कप के फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ 21 रन देकर 6 विकेट लिए थे, जिसकी वजह से श्रीलंका की टीम सिर्फ 50 रन पर सिमट गई थी. वर्ल्ड कप मैच में भी सिराज ने उसी अंदाज में शुरआती तीन विकेट चटकाए, और बाकी काम मोहम्मद शमी ने पूरा कर दिया.

मोहम्मद शमी की निरंतरता

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने इस वर्ल्ड कप की शुरुआत में मोहम्मद शमी को खेलने का मौका नहीं दिया था, क्योंकि वह शार्दुल ठाकुर या रविचंद्रन अश्विन के रूप में एक अतिरिक्त बल्लेबाजी का विकल्प चाहते थे. लेकिन, हार्दिक पांड्या को चोट लगने के बाद टीम का संतुलन बिगड़ गया और फिर शमी को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना पड़ा. शमी ने पहले मैच में दिखा दिया कि उन्हें टीम मैनेजमेंट ने बाहर बैठाकर कितनी बड़ी भूल की थी. शमी ने अभी तक तीन वर्ल्ड कप मैच खेले हैं, और 14 विकेट हासिल कर चुके हैं, जिसमें दो पांच-विकेट हॉल भी शामिल है. श्रीलंका के खिलाफ पांच विकेट लेकर शमी वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज भी बन गए. शमी का निरंतरता वाला बेहतरीन प्रदर्शन टीम इंडिया के लिए जीत का सबसे बड़ा मंत्र बन चुका है.

श्रेयस अय्यर का घातक रूप

टीम इंडिया के मध्यक्रम में श्रेयस अय्यर का आउट ऑफ फॉर्म चलना चिंता का सबब बना हुआ था, लेकिन श्रीलंका के खिलाफ श्रेयस की पारी ने टीम की उस टेंशन को भी खत्म कर दिया है. श्रेयस ने 56 गेंदों में 146.42 की स्ट्राइक रेट से 82 रन बनाए. इस पारी में श्रेयस अय्यर के हरेक शॉट में भरपूूर आत्मविश्वास दिख रहा था, जिसके कारण वो छक्कों को दूसरी-तीसरी स्टैंड में पहुंचा रहे थे. श्रेयस ने इस पारी में 3 चौके और 6 छक्के जड़े. लिहाजा, अब उनसे टीम को साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले मैच में काफी उम्मीदें होंगी.

शुभमन गिल की वापसी

शुभमन गिल ने पिछले करीब एक साल से खूब रन बनाए हैं, इस वजह से गिल टीम इंडिया के पसंदीदा ओपनर बल्लेबाज थे. हालांकि, इस वर्ल्ड कप में गिल का बल्ला उस हिसाब से नहीं चल रहा था, जिसके लिए वो जाने जाते हैं, लेकिन श्रीलंका के खिलाफ 92 गेंदों में 92 रनों की एक बेहतरीन पारी खेलकर गिल ने बताया कि अगर रोहित-विराट आउट हो जाते हैं, तो फैन्स उनपर भी भरोसा कर सकते हैं.

टीम इंडिया में ग्यारह मैच विनर

इस वक्त टीम इंडिया के सभी ग्यारह खिलाड़ी मैच विनर हैं. कप्तान रोहित शर्मा से लेकर मोहम्मद सिराज तक, बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी और फील्डिंग तक में टीम इंडिया का हरेक खिलाड़ी फॉर्म में है, और मैच विनर है. टीम इंडिया किसी एक या दो खिलाड़ी पर निर्भर नहीं है. हरेक खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, और टीम सभी के कम्बाइन प्रदर्शन के बदौलत जीत रही है. यह टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा पॉजिटीव है.

Leave a Comment

Scroll to Top