Ghaziabad: गाजियाबाद में लुटेरी कामवाली के गिरोह का पर्दाफाश, शख्स से शादी के बाद था संपत्ति पर कब्जे का प्लान, ऐसे हुआ खुलासा

UP News: फर्जी शादी कराकर संपत्ति पर कब्जा करने वाला ये गिरोह महिलाओं को घर में नौकरानी बनाकर भेजता था. इस मामले में आरोपी प्रीति ने हरियाणा में कई फर्जी शादियां की हैं.

Ghaziabad News: यूपी के गाजियाबाद जिले से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. पुलिस ने यहां एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो फर्जी शादी कराकर संपत्ति पर कब्जा करने का काम करता है. ये गिरोह महिला को घरों में नौकरानी बनाकर भेजता है और फिर उस महिला की उसी घर में शादी करवा देता है. इसके बाद ये महिला संपत्ति हड़पकर भाग जाती है. 

गाजियाबाद पुलिस ने फर्जी शादी कराकर संपत्ति पर कब्जा करने वाले इस गिरोह के हिस्ट्रीशीटर बदमाश सचिन को गिरफ्तार किया है. सचिन के गिरोह में तीन महिलाएं हैं. ये गिरोह ऐसे लड़कों की तलाश करता था. जो अमीर घरों से ताल्लुक रखते हैं और उनकी शादी नहीं हो रही है. फिर उनको अपने झांसे में लेकर उन लड़कों की अपने गिरोह की महिलाओं से शादी कराकर उनकी संपत्ति कब्जे का काम शुरू होता था. 

ऐसे पकड़ में आया गिरोह

एसीपी नरेश कुमार ने सोमवार (2 अक्टूबर) को बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि रविवार रात को फर्जी शादी कराकर संपत्ति हड़पने वाले बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे हैं. सूचना के आधार पर एक टीम का गठन किया गया. जिसके बाद चेकिंग अभियान चलाया. इसी दौरान पुलिस ने जलालाबाद मार्ग पर एक बदमाश को गिरफ्तार किया. पकड़े गए बदमाश ने अपना नाम सचिन निवासी गांव नूरपुर बताया.

महिला को घर में नौकरानी रखवाया

सचिन गाजियाबाद में एक हिस्ट्रीशीटर बदमाश है. सचिन ने हरियाणा की प्रीति नाम की महिला के साथ मिलकर अपना गिरोह बनाया था. सचिन का यूआईएमटी कॉलेज की चेयरपर्सन डॉ. सुधा सिंह के पास आना जाना था. उसने जान पहचान का फायदा उठाते हुए अपनी साथी प्रीति को डॉ. सुधा सिंह के घर में नौकरानी रखवाया. इसके बाद चेयरपर्सन के मंदबुद्धि बेटे शिवम के साथ प्रीति की शादी कराने के लिए मना लिया. 

शादी के बाद किया विवाद

शादी के बाद ही प्रीति का विवाद हो गया और वह अपने घर चली गई. इसी बीच यूआईएमटी कॉलेज की चेयरपर्सन डॉ. सुधा सिंह का पिछले दिनों बीमारी के कारण निधन हो गया. उनके निधन के एक माह बाद ही प्रीति ने शिवम को पति बताकर एक मकान पर कब्जा किया. चेयरपर्सन की बेटी आकांक्षा ने बताया कि भाई की शादी प्रीति के साथ हुई. इस बात की कोई जानकारी उन्हें नहीं थी. उन्होंने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई. इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. 

आरोपी महिला ने कई फर्जी शादियां की

पुलिस ने बताया कि सोनीपत व आसपास के क्षेत्र में प्रीति ने कई फर्जी शादियां की हैं. शादी के कुछ समय बाद ही वह लड़ाई कर फरार हो जाती थी. इसके बाद ब्लैकमेल कर पैसा वसूलने का काम करती थी. इस गिरोह की तीन महिलाएं सोनीपत में पहले भी गिरफ्तार की जा चुकी हैं. पुलिस को अब प्रीति की तलाश है. जिसके लिए पुलिस की टीमें लगी हैं. पुलिस का दावा है कि गिरोह का मास्टरमाइंड सचिन है. गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी जल्द होगी.  

Leave a Comment

Scroll to Top