ED Probe: बढ़ने वाली हैं पेटीएम पेमेंट्स बैंक की मुसीबतें, मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर सकती है ईडी

Paytm Payments Bank: पेटीएम पेमेंट्स बैंक के अकाउंट निष्क्रिय और बिना केवाईसी के मिले हैं. शक की सुई इन्हीं अकाउंट पर जाकर अटक गई है.

Paytm Payments Bank: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की कार्रवाई का सामना कर रहे पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) की मुसीबतें और बढ़ने वाली हैं. बैंक में कई ऐसे अकाउंट का पता लगा है, जिनकी केवाईसी को लेकर कोई जानकारी नहीं मिली है. यह जानकारी प्रवर्तन निदेशालय (ED) को दे दी गई है. यदि इसमें मनी लॉन्ड्रिंग जैसी अवैध गतिविधियों के सबूत मिलते हैं तो पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ ईडी जांच शुरू हो सकती है. सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बैंक में बड़ी संख्या में निष्क्रिय अकाउंट भी मिले हैं.  

रेवेन्यू सेक्रेटरी ने दिए जांच के संकेत 

रायटर्स की शनिवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक, रेवेन्यू सेक्रेटरी संजय मल्होत्रा ने कहा है कि यदि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ वित्तीय हेराफेरी के आरोप सामने आए तो इसकी जांच ईडी (Enforcement Directorate) को सौंपी जा सकती है. अब रिपब्लिक ने सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में कहा है कि केंद्रीय बैंक को चिंता है कि बैंक के कुछ अकाउंट का इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग के लिए किया जा सकता है. इसलिए ईडी को सूचित करने के साथ ही आरबीआई ने गृह मंत्रालय (Home Ministry) और प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को भी यह जानकारी भेजी है. 

पेटीएम ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों का खंडन किया 

उधर, पेटीएम पेमेंट्स बैंक के प्रवक्ता ने कहा कि पेटीएम (Paytm) की पैरेंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड (One 97 Communications) और पेटीएम पेमेंट्स बैंक की कभी भी ईडी द्वारा जांच नहीं की गई है. हमारे प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले कुछ कारोबारी जांच का सामना कर रहे हैं. हमने इस संबंध में अधिकारियों को हमेशा जवाब दिए हैं. हम मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों का खंडन करते हैं और आप सभी को अटकलों के प्रति आगाह करते हैं.

आरबीआई, ईडी, फाइनेंस मिनिस्ट्री, होम मिनिस्ट्री और पीएमओ चुप 

विभिन्न मीडिया कंपनियों द्वारा संपर्क किए जाने के बावजूद आरबीआई, ईडी, फाइनेंस मिनिस्ट्री, होम मिनिस्ट्री और पीएमओ ने इस संबंध में कुछ भी नहीं कहा है. आरबीआई ने बुधवार को पेटीएम पेमेंट्स बैंक को 29 फरवरी तक डिपॉजिट और वॉलेट समेत अपने ज्यादातर कारोबार बंद करने का आदेश दिया था. आरबीआई ने नियमों का पालन न करने के आरोप में यह कार्रवाई की थी. इस कार्रवाई के बाद बैंक के शेयर धड़ाम हो गए थे. कंपनी की मार्केट वैल्यू भी तेजी से गिरी है. शनिवार को बीएसई ने कंपनी के शेयरों के लिए डेली लिमिट 20 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी कर दी थी. पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा ने इस कार्रवाई को स्पीड बंप बताया था. 

Leave a Comment

Scroll to Top