19 साल के आर्यन ने किया कमाल, ChatGPT के मालिक से अपनी कंपनी में करवाया करोड़ों का निवेश, बनाया ये प्रोडक्ट

InducedAI: 2 भारतीयों ने मिलकर ओपन एआई के सीईओ सैम ऑल्टमैन को अपने AI बिजनेस में निवेश करने के लिए मना लिया. दोनों ने एक AI ब्राउजर बनाया है. 

जिस चैट जीपीटी ने बाजार में आते ही गूगल जैसी बड़ी कंपनी की नींद उड़ा दी थी, उस कंपनी के सीईओ सैम ऑल्टमैन से 2 भारतीयों ने मुलाकात कर अपने AI स्टार्टअप के लिए मोटी फंडिंग हासिल की है. दरअसल, भारत के 19 साल के आर्यन शर्मा ने सैम ऑल्टमैन को अपने Induced AI स्टार्टअप में निवेश करने के लिए मना लिया है. ओपन एआई के सीईओ से मिलने के लिए दोनों भारतीयों (आयुष और आर्यन) ने कड़ी मशक्कत की है और दोनों ने पाई-पाई जोड़कर सैम ऑल्टमैन से सैन फ्रांसिस्को में मुलाकात की.

बड़ी मुश्किलों के बाद जब सैन फ्रांसिस्को में आर्यन शर्मा सैम ऑल्टमैन से मिले तो उन्होंने खुद को कंपनी का सेक्रेटरी बनाने के लिए कहा. मीटिंग में आर्यन ने सैम को अपने AI स्टार्टअप Induced AI के बारे में बताया. इस मीटिंग के बाद से सैम और आर्यन संपर्क में थे. अपनी कंपनी, Induced AI के लिए फंड रेसिंग के दौरान आर्यन ने सैम से बात की जहां से उन्हें 23 लाख डॉलर (लगभग 19 करोड़ की मोटी रकम) मिली. बता दें, सैम ने ये इन्वेस्टमेंट अन्य इन्वेस्टर्स के साथ मिलकर की है. इन्वस्टर्स का विवरण आप वेबसाइट पर भी देख सकते हैं.

क्या करता है Induced AI?

Induced AI एक ब्राउजर है जो आपके किसी भी काम को करने के लिए AI एजेंट का इस्तेमाल करता है. कंपनी ने दावा किया है कि ये ब्राउजर आपके काम को ऑटोमेट कर देगा और आपको ज्यादा परेशानी नहीं होगी. वेबसाइट के मुताबिक, आप अपने काम को वीडियो के माध्यम से भी रिकॉर्ड कर AI टूल को समझा सकते हैं. सभी परमिशन देने के बाद ये AI टूल आपके सारे काम करेगा और आपके साथ डेटा भी शेयर करेगा. यानि आपका काम आप न करके AI एजेंट करेगा और आपको वर्कलोड की प्रॉब्लम भी नहीं होगी. साथ ही इस टूल में आपको एंटी बॉट डिटेक्शन, कैप्चा हैंडलिंग, सिक्योर एक्सेस का भी सपोर्ट मिलेगा.
 
फिलहाल Induced AI सभी के लिए उपलब्ध नहीं है. अगर आप इस टूल को यूज करना चाहते हैं तो वैटलिस्ट में शामिल हो सकते हैं. 

Leave a Comment

Scroll to Top