अभिमन्यु पूनिया बने राजस्थान में यूथ कांग्रेस अध्यक्ष, पद संभालते ही सचिन पायलट को लेकर कही बड़ी बात

Congress: सचिन पायलट के करीबी अभिमन्यु पूनिया राजस्थान यूथ कांग्रेस के नए अध्यक्ष बनाए गए हैं. वहीं, सुधींद्र मूंड और यशवीर सूरा को कार्यकारी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

Rajasthan Congress President: राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मिली शिकस्त से कांग्रेस को बड़ा झटा लगा है. पार्टी को इस तरह की हार की उम्मीद नहीं थी. इसके चलते कांग्रेस ने पहले मध्य प्रदेश और राजस्थान में पार्टी संगठन में बदलाव किया है. कांग्रेस ने पूर्व डिप्टी सीएम और कांग्रेस नेता सचिन पायलट के करीबी अभिमन्यु पूनिया को राजस्थान यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया है. 

युवा कांग्रेस राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष निर्वाचित होने पर अभिमन्यु पूनिया सचिन पायलट से मिले. इस मुलाकात के बाद उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा, “युवा हृदय सम्राट युवाओं के मार्गदर्शक लोकप्रिय जननेता सचिन पायलट से मुलाकात कर आशीर्वाद लिया. राज्य में बीजेपी के कुशासन के खिलाफ युवा कांग्रेस का हर एक साथी मजबूती से लड़ेगा.”

श्रीनिवास बीवी ने जारी किया आदेश
इसके अलावा सुधींद्र मूंड और यशवीर सूरा को राजस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है. इस संबंध में यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने आदेश जारी कर दिया है. इन सभी की नियुक्ति हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव से पहले होनी थी. हालांकि, पूर्व सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच कोई टकराव नहीं हो, इसलिए इन पदों पर नियुक्ति नहीं की गई थी.

बता दें कि यूथ कांग्रेस अध्यक्ष पद सहित अन्य पदों पर इस साल फरवरी में वोटिंग हुई थी, लेकिन चुनाव के मद्देनजर पार्टी ने केवल अध्यक्ष पद पर ही नियुक्ति की थी, जबकि बाकी पदों को खाली छोड़ दिया गया था.

मध्य प्रदेश में भी हुआ बदलाव
वहीं, कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में भी पार्टी संगठन में बड़े बदलाव किए. कांग्रेस ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पद से कमलनाथ को हटाकर जीतू पटवारी को यह पद सौंप दिया. वहीं, आदिवासी नेता उमंग सिंगार को नेता प्रतिपक्ष और हेमंत कटारे को उप नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी दी गई.

तीन राज्यों में कांग्रेस को मिली हार
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्य प्रदेश में 66, तो राजस्थान में 69 सीटें ही मिल सकीं. वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का प्रदर्शन और भी निराशजनक रहा. यहां कांग्रेस 35 सीटों पर ही सिमट गई. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस सत्ता में थी.

Leave a Comment

Scroll to Top